Home » Health » Health Facts » केवल लड़कियों के लिए नहीं लड़कों के लिये भी लड़कियों की वर्जिनि* मायने रखती है !जानिए क्यों ?
Health Health Facts

केवल लड़कियों के लिए नहीं लड़कों के लिये भी लड़कियों की वर्जिनि* मायने रखती है !जानिए क्यों ?

केवल लड़कियों के लिए नहीं लड़कों के लिये भी लड़कियों की वर्जिनि* मायने रखती है !जानिए क्यों ?
केवल लड़कियों के लिए नहीं लड़कों के लिये भी लड़कियों की वर्जिनि* मायने रखती है !जानिए क्यों ?

हमारे देश के युवा आज तक भी लड़कियों के लिये यही सोच रखतें हैं के लड़कियों का वर्जि* होना जरूरी है। पर कमाल की बात तो ये है की हमारे समाज में ये सोच सिर्फ लड़कियों के लिये है। लड़को के लिये ऐसा कुछ भी नहीं हैं। ये गलत धारणायें आखिर क्यों है....?

लोग मानतें हैं की खून निकलना जरूरी होता है...
हमारे देश मे सेx एजुकेशन ना के बराबर है। जिज्ञासावस हम एड्ल्ट वीडियोज़ देखते हैं जिसमे वर्जिन लड़कियों के पहली बार संभोग के दौरान खून निकलता दिखाया जाता है। और हम यही गलत धारणा अपने मन में बना कर बैठ जाते हैं।
लोग मानतें हैं की खून निकलना जरूरी होता है...
पर खून का निकलना जरूरी नहीं होता...
पहली बार संभोग के दौरान खून निकले ये जरूरी नहीं होता। एक रिसर्च का कहना है की, 90% लड़कियों को पहली बार संभोग करने के दौरान खून नहीं आता। .अगर लड़की आपके साथ सहज है और कामोत्तेजित है, तो ज़रूरी नहीं है कि पहली बार सेक्* में दर्द होगा या खून निकलेगा
पर खून का निकलना जरूरी नहीं होता...
क्यों निकलता है खून...
कईं लड़कियों के गुप्तांग में एक बेहद पतली झिल्ली होती है। साइकलिंग, घुड़सवारी, टैंपोन का इस्तेमाल या फिर पहली बार संभोग के दौरान हट जाती है। और खून निकलता है। पर कईं लड़कियों के गुप्तांग में या तो ये झिल्ली होती ही नहीं या फिर काफी लचीली होती है। जो संबध बनाने के बाद भी नहीं हटती औऱ खून नहीं आता...
क्यों निकलता है खून...
वर्जिनिटी को लेकर गलत धारणायें बनाई जाती हैं...
यहां तक की कुछ लोग तो लड़कियों का शरीर देखकर ही ये बताने लग जाते हैं की लड़की वर्जिन है य़ा नहीं। कुछ लोगों का मानना है की सेx करने के बाद लड़की के शरील में बदलाव आने लग जाते हैं। कुछ लोगों का मानना है की लड़की के पेट कमर के नीचे का भाग बड़ा होने लग जाता है। पर ये सब खाने-पीने व्यायाम औऱ पहने जाने वाले कपड़ो पर निर्भर करता है।

कुछ लोग ये भी सोचतेंहैं...
कुछ महापुरूषों का तो ये भी मानना है। की सेx बाद लड़की पैर फैला कर चलती है। औऱ साथ ही ये भी शिक्षा देते हैं की अगर पहली बार संभोग के दौरान लड़की रोये या चिल्लाये नहीं तो लड़की वर्जिन नहीं है। लेकिन सच ये है। अगल लड़की कामोत्तेजित हो तो उसको सुख मिलता है। और दर्द कम होता है। तो लड़की चिल्लाये ऐसा जरूरी नहीं होता।
कुछ लोग ये भी सोचतेंहैं...
एक लड़की ही सिर्फ उसकी वर्जिनिटी बता सकती है...
किसी लड़की का शरीर या उसके हाइमन तक को देखकर एक डॉक्टर तक भी ये नहीं बता सकता की ये लड़की वर्जिन है। या संभोग कर चुकी है। ये सिर्फ वो लड़की ही बता सकती है जिसके बारे में आप जानना चाहते हैं।
एक लड़की ही सिर्फ उसकी वर्जिनिटी बता सकती है...
हमें इस गलत भावना को त्याग देना चाहिये...
किसी लड़की की वर्जिनिटी से उसके चरित्र पर उंगली उठाना गलत होता है। औऱ वर्जिनिटी चेक करने के ये सभी गलत तरीके हमें छोड़कर अपने साथ विशवास की एक डोर तैयार करनी चाहिये। खून निकलना या ना निकलना ये तो नेचुरल होता है। इसमें आप लड़की के चरित्र को नहीं नाप सकतें....

READ  ये हैं, हस्तमैथु* की लत छोड़ने के आसान तरीके...

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × five =






Latest News




loading...
WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com