Home » Health » HEALTH & FITNESS » कुछ ऐसा है आपकी अंडरवियर और आपके स्पर्म काउंट का कनेक्शन, चौंकिएगा मत
Health HEALTH & FITNESS

कुछ ऐसा है आपकी अंडरवियर और आपके स्पर्म काउंट का कनेक्शन, चौंकिएगा मत

कुछ ऐसा है आपकी अंडरवियर और आपके स्पर्म काउंट का कनेक्शन, चौंकिएगा मत
कुछ ऐसा है आपकी अंडरवियर और आपके स्पर्म काउंट का कनेक्शन, चौंकिएगा मत

अंडरवियर' का नाम उन वस्त्रों में शुमार है जो आपके बेहद करीब होते हैं। दिन-रात आपसे चिपकी जो रहती है। आजकल तो कपड़ों की तरह ही अंडरवियर्स का भी ट्रेंड चल पड़ा है। मार्केट में इस अंतर्वस्त्र के सिर्फ कई सारे ब्रांड्स ही नहीं, बल्कि ढेरों रंग और डिजाइंस भी मौजूद हैं। आप ही बताइए अंडरवियर खरीदने से पहले आप क्या देखते हैं? उसके कलर या डिजाइन से ज्यादा कुछ तो नहीं देखते होंगे। हाँ, कुछ लोग कपड़े की क्वालिटी भी जरूर देख लेते होंगे। क्या आपने कभी सोचा है कि आपके अंडरवियर से भी आपको कोई नुकसान हो सकता है। नहीं? तो जरा संभल जाओ। इसके एक नहीं बल्कि कई नुकसान होते हैं। गलत अंडरवियर आपकी स्पर्म काउंट को कम करने के साथ ही आपके लिए कुछ और समस्याएं भी खड़ी कर सकती हैं। यह बिल्कुल सच है। रिसर्च तो कुछ ऐसा ही कहती है। तो फिर देर किस बात की है। आइए जानते हैं पूरा मामला।
यह भी फैशन का हिस्सा
एक जमाना था जब पुरुष कच्छे पहनकर घुमा करते थे। लेकिन आज की जनरेशन तो अपनी अंडरवियर को लेकर भी चूज़ी हो गई है। आज का जमाना तो टाइट अंडरवियर का जमाना है। लेकिन यह पुरुषों के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डालती है।
यह भी फैशन का हिस्सा
वीर्य पर पड़ता है फर्क
इस रिसर्च के अनुसार पुरुष दिन और रात के दौरान जिस तरह की अंडरवियर पहनते हैं, उससे उनके सीमेन(वीर्य) की क्वालिटी पर फर्क पड़ता है।
वीर्य पर पड़ता है फर्क
यह होती है वजह
विशेषज्ञों के अनुसार गर्मी या टाइट कपड़ों की वजह से जिन पुरुषों के टेस्टिकल्स का तापमान बढ़ जाता है, उनके वीर्य की क्वालिटी कूल्ड टेस्टिकल्स से बने वीर्य की तुलना में कमजोर होती है।
यह होती है वजह
कुछ मत पहनो
सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा है, मगर स्टडी का तो कुछ यही कहना है। इस स्टडी के अनुसार,'जो पुरुष दिन में बॉक्सर और रात में सोते वक्त कुछ नहीं पहनते हैं उनके स्पर्म में डैमेज्ड डीएनए, टाइट अंडरवियर पहनने वालों की तुलना में कम होते हैं।
कुछ मत पहनो

READ  मिट्टी के तवे पर बनी रोटी खाने के ये फायदे नहीं जानते होंगे आप

स्पर्म से जुड़ी यह समस्या भी होती है।
घटता है स्पर्म काउंट
फ्रांस में हुए शोध की माने तो 90 के दशक के बाद दुनियाभर में स्पर्म काउंट घटने के साथ ही स्पर्म की गुणवत्ता में भी कमी आई है। शोध के अनुसार 1985-2005 यानि 20 साल में पुरुषों के स्पर्म काउंट में 30% तक गिरावट आई है।
घटता है स्पर्म काउंट
फ्रेंची अंडरवियर
इस स्टडी के अनुसार स्पर्म काउंट में गिरावट आने के पीछे खान-पान की गलत आदतें, बेतरतीब लाइफस्टाइल और टाइट कपड़े (खासतौर पर अंडरवियर) जिम्मेदार होते हैं। इनमें भी फ्रैंची अंडरवियर स्पर्म काउंट को सबसे ज्यादा प्रभावित करती है।
फ्रेंची अंडरवियर
जानिए सिंथेटिक अंडरवियर से होती है क्या समस्या।
सिंथेटिक को ना
सिंथेटिक अंडरवियर्स काफी फैंसी और ट्रेंडी किस्म की होती हैं और लड़के अपने पार्टनर को इम्प्रेस को करने के लिए भी फैंसी अंडरवियर को ही चुनते हैं। लेकिन आपके स्वास्थ्य के लिए कॉटन अंडरवियर से बेहतर कुछ नहीं है।
सिंथेटिक को ना
हो जाती हैं समस्याएं
दरअसल सिंथेटिक अंडरवियर सूखने में ज्यादा वक्त लगता है। ऐसे में गीलेपन की वजह से खुजली, यीस्ट इन्फेक्शन बदबू आने जैसी समस्याएं हो जाती हैं। कभी-कभार तो सिंथेटिक (सिल्क,नायलॉन,लाइक्रा) आदि चल जाता है लेकिन डेली यूज में कॉटन की अंडरवियर का ही चुनाव करें।
हो जाती हैं समस्याएं
टाइट अंडरवियर से होती हैं ये अन्य समस्याएं।
सीने में जलन
टाइट अंडरवियर सिर्फ आपके प्राइवेट पार्ट्स को ही प्रभावित नहीं करती, बल्कि यह आपके अन्य अंगों के लिए भी खतरनाक है। टाइट अंडरवियर पहनने से पेट पर बहुत अधिक दबाव बनता हैं, जिससे ग्रासनली में एसिड बनता है जो सीने में जलन को जन्म देता है।
सीने में जलन
रुकता है ब्लड सर्कुलेशन
बहुत ज्यादा टाइट अंडरवियर की वजह से ब्लड सर्कुलेशन में भी दिक्कत आती है। इस वजह से कई टिश्यूज भी नष्ट हो जाते हैं। साथ ही आपकी नसें भी सुन्न पड़ जाती है।

दोस्तों आपके लिए ये तथ्य बेहद काम के थे। अब अगली बार अंडरवियर खरीदने से पहले इन पॉइंट्स को जरूर याद रखिएगा।

READ  यूरिक एसिड ने शरीर को जकड़ रखा है तो चिंता ना करे, ये पोस्ट आपके लिए वरदान साबित होगी, जरूर पढ़े और शेयर करे



Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + 6 =






Latest News




loading...
WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com