Home » Health » HEALTH & FITNESS » कितना स्ट्रांग है आपका स्पर्म, इसे और भी ज्यादा स्ट्रांग बनाने के कुछ खास तरीके इन चीजों को खाने से बचिए।
HEALTH & FITNESS

कितना स्ट्रांग है आपका स्पर्म, इसे और भी ज्यादा स्ट्रांग बनाने के कुछ खास तरीके इन चीजों को खाने से बचिए।

कितना स्ट्रांग है आपका स्पर्म, इसे और भी ज्यादा स्ट्रांग बनाने के कुछ खास तरीके इन चीजों को खाने से बचिए।
कितना स्ट्रांग है आपका स्पर्म, इसे और भी ज्यादा स्ट्रांग बनाने के कुछ खास तरीके इन चीजों को खाने से बचिए।

आजकल की दौड़ती भागती दुनिया में लाइफस्टाइल को एक सा बनाए रखना किसी के लिए भी चुनौती से कम नहीं होता। खासतौर पर अगर आप किसी बड़े शहर की लाइफस्टाइल जी रहे हो, तब तो ऐसा करना और भी मुश्किल हो जाता है। इसका नकारात्मक प्रभाव हमें हमारी सेहत पर देखने को मिलता है।

ह्यूमन रिप्रोडक्शन अपडेट नामक जर्नल में पब्लिश एक स्टडी के मुताबिक पिछले कुछ सालों में दुनियाभर के पुरुषों के स्पर्म काउंट और क्वालिटी में गिरावट आई है। ऐसा पुरुषों की अनहेल्दी लाइफस्टाइल की वजह से हो रहा है। स्पर्म को ज्यादा स्ट्रांग, फास्टर और फर्टिलाइज्ड बनाने के लिए एक हेल्दी लाइफस्टाइल का होना बहुत जरूरी है। आज हम आपको ऐसे कुछ तरीके बताने जा रहे हैं जिनके जरिए स्पर्म को और भी ज्यादा स्ट्रांग और फर्टिलाइज बनाया जा सकता है।

आइये जानते हैं।
हेल्दी डाइट लें
सब्जियां जैसे टमाटर, लहसुन, अनार, कद्दू के बीज और स्ट्रॉबेरी जैसे फ्रूट और वेजिटेबल खाने से हमारी सेहत तो अच्छी रहती ही है। साथ ही स्पर्म भी स्ट्रांग होते हैं।

रोजाना एक्सरसाइज करें
रोजाना तौर पर एक्सरसाइज करने वालों का स्पर्म काउंट एक्सरसाइज ना करने वालों की तुलना में 30% ज्यादा होता है। अतः हर दिन कम से कम 20 मिनट की एक्सरसाइज करना ना भूलें।
रोजाना एक्सरसाइज करें
शराब सिगरेट से दूरी
सप्ताह में पांच से ज्यादा बार शराब पीने और ज्यादा सिगरेट पीने से भी स्पर्म के काउंट में कमी आ सकती है।
शराब सिगरेट से दूरी
गैजेट्स का सही इस्तेमाल
ऐसा कहा जाता है कि गैजेट्स का इस्तेमाल सोच समझ कर करना चाहिए। पैंट की सामने की जेब में मोबाइल और थाइज पर लैपटॉप रखने से स्पर्म डैमेज हो सकते हैं। इससे उनकी संख्या घट सकती है।
गैजेट्स का सही इस्तेमाल
जंक फूड खाने से
जंक फूड खाने से सेहत पर बुरा असर तो होता ही है। साथ ही ज्यादा फैटी और ऑयली, सोया प्रोडक्ट, ज्यादा नमक और मीठा खाने वालों में स्पर्म काउंट 40% तक कम होता है।
जंक फूड खाने से
स्टेरॉइड्स और हैवी मेडिसिन
कई स्टेरॉइड्स, डिप्रेशन की दवाएं और ताकत बढ़ाने वाली दवाओं को लेने के कारण स्पर्म डैमेज होते हैं। उनकी क्वालिटी पर भी बुरा असर पड़ता है।
स्टेरॉइड्स और हैवी मेडिसिन
गर्म पानी से ना नहाएं
डॉक्टर्स के मुताबिक, रेग्युलर हॉट टब या हॉट शॉवर बाथ लेने से स्पर्म डैमेज होते हैं। इसकी वजह से स्पर्म की संख्या घटती हैं। फर्टिलिटी पर असर पड़ता है।
गर्म पानी से ना नहाएं
स्ट्रेस और टेंशन से बचे
स्ट्रेस और टेंशन की वजह से बॉडी में कई नेगेटिव हार्मोन रिलीज होते हैं। ये हार्मोन्स स्पर्म को डैमेज करते हैं। उनकी संख्या को घटाते हैं। ऐसे में स्ट्रेस लेने से बचे।
स्ट्रेस और टेंशन से बचे
वेट मेंटेन करें
स्पर्म काउंट को स्ट्रांग करने के लिए वजन को मैंटेन करना बेहद जरूरी है। 40 इंच से ज्यादा कमर वाले लोगों में नार्मल लोगों की तुलना में स्पर्म काउंट 22% कम हो सकता है।
वेट मेंटेन करें
टाइट अंडरवियर ना पहनें
अधिक टाइट अंडरवियर पहनने से टेस्टिकल्स में गर्मी बढ़ जाती है। इससे स्पर्म कमजोर और डैमेज हो जाते हैं। उनकी संख्या भी घट जाती है।
टाइट अंडरवियर ना पहनें

READ  जानें आखिर महिलाएं क्यों जाती है बार-बार बाथरूम, इसे रोकने के क्या है उपाय

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 − eleven =






Latest News




loading...
WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com