Home » Health » HEALTH & FITNESS » महिलाओं के आभूषण और विज्ञान के बीच है गहरा संबंध , जानकर विश्वास नहीं कर पाएंगे आप महिलाओं के लिए विशेष गुणकारी हैं गहनें।
HEALTH & FITNESS

महिलाओं के आभूषण और विज्ञान के बीच है गहरा संबंध , जानकर विश्वास नहीं कर पाएंगे आप महिलाओं के लिए विशेष गुणकारी हैं गहनें।

महिलाओं के आभूषण और विज्ञान के बीच है गहरा संबंध , जानकर विश्वास नहीं कर पाएंगे आप महिलाओं के लिए विशेष गुणकारी हैं गहनें।
महिलाओं के आभूषण और विज्ञान के बीच है गहरा संबंध , जानकर विश्वास नहीं कर पाएंगे आप महिलाओं के लिए विशेष गुणकारी हैं गहनें।

अक्सर ऐसा माना जाता है कि महिलाओं को अपने आभूषणों और श्रृंगार से बहुत लगाव होता है। यही कारण है कि आभूषण चाहे रत्नों के हो या धातुओं (जैसी सोने या चांदी) के, महिलाओं को उन्हें पहनना बहुत भाता है। हमारे भारतीय रीति-रिवाजो में सोलह श्रृंगार को काफी महत्त्व दिया जाता है। शादी के बाद महिलाओं का सिर से लेकर पैरों तक श्रृंगार किया जाता है। सभी सोचते हैं कि ये सब केवल परंपरा के आधार पर किया जाता है, लेकिन महिलाओं की मांग में भरे हुए सिंदूर से लेकर उनके पैरों में दिखने वाली बिछिया तक का अपना एक अलग महत्व होता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इन सभी श्रृंगारो के कई वैज्ञानिक कारण होते हैं, जो महिलाओं के लिए विशेष गुणकारी होते हैं।

तो देर किस बात की है। आइये जानते हैं कि महिलाओं के द्वारा अपने भिन्न अंगो में पहने जाने वाले गहनों का उनके शरीर पर कैसा प्रभाव पड़ता है। आइये जानते हैं

सोना

सोने के गहने पहनना महिलाओं के लिए बहुत उत्तम माना गया है। सोने में एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण पाए जाते हैं जो महिलाओं का रंग निखारने के साथ-साथ उनको जवान बनाए रखने में भी मदद करते हैं।

चाँदी
चाँदी के गहने पहनने से आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। खास तौर पर चाँदी के गहनों से पीठ, एड़ी, घुटनों के दर्द के रोगों में राहत मिलती है। साथ ही चाँदी, हड्डियों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।
चाँदी
पायल
पायल पहनने से हमारे शरीर को इसकी खनखना से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। पैरों में चाँदी की पायल पहनने का अलग महत्त्व होता है, जो मोटापे को भी दूर रखने में सहायक होता है।
पायल
बिछिया
बिछिया शरीर में होने वाली कई बीमारियों को कंट्रोल करती है। यह नर्वस सिस्टम को ठीक रखने के साथ-साथ रिप्रॉडक्टिव सिस्टम को भी सामान्य बनाए रखती है।
बिछिया
मांग टीका
मांग के बीच में लगाया जाने वाला टीका हमारे सिर की गर्मी को बैलेंस करने का काम करता है। साथ ही दिमाग में तनाव के चलते ज्यादा प्रेशर बन जाता है। यह उसे भी नियंत्रित करने में मदद करता है।
मांग टीका
नथनी
नथनी को पहनने से सांस संबंधी समस्याओं के साथ-साथ हर महीने होने वाली पीरियड्स के दौरान होने वाली समस्याओं से भी मुक्ति मिलती है। दरअसल, बाएं नाक की नर्व का सीधा संबंध महिलाओं के रिप्रॉडक्टिव सिस्टम से होता है, जो प्रसव के दौरान होने वाली समस्याओं से बचाता है।
नथनी
झुमका / ईयर रिंग्स
झुमका / ईयर रिंग्स
कान में पहनी जाने वाली बालियाँ या झुमके शरीर में एक्यूपेंचर का काम करते हैं। काफी समय पहले चीन के लोग उसे स्वास्थ्य को सही रखने के लिए पहनते थे।
अंगूठी
अन्य श्रृंगारो की तरह हाथ में पहने जाने वाली अंगूठी का भी अपना अलग महत्त्व है। उँगलियों का संबध दिल से होने की वजह से अंगूठी दिल की बीमारियों को पनपने नहीं देती है। इससे हार्ट अटैक जैसी बीमारियों के खतरे कम हो जाते हैं।
अंगूठी
मंगलसूत्र
मंगलसूत्र शादीशुदा महिलाओं का सबसे महत्वपूर्ण गहना है। ऐसा माना जाता है कि गले में पहने जाने वाला मंगलसूत्र हमारे शरीर के ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है। यह दिल की बीमारियों से छुटकारा दिलाने में भी हमारी मदद करता है।
मंगलसूत्र
सिंदूर
बताया जाता है कि सिंदूर में पाया जाने वाला पारा सिर की नस में दबाव बनाए रखता है। इसके अलावा ये पीनल ग्लैंड को भी सही बनाए रखता है। यह महिलाओं के दिमाग के संतुलन को भी ठीक बनाए रखता है।
सिंदूर
बिंदी
बिंदी को दोनों आईब्रो के बीच लगाने से हमारे माथे की मुख्य नर्व पर अधिक दबाव पड़ता है। यह एनर्जी को बचाने के साथ-साथ मन में एकाग्रता को बनाए रखने का काम करती है।
बिंदी
चूड़ियाँ
हाथों की रंग-बिरंगी चूड़ियाँ हमारे शरीर को स्वस्थ रखती है। यह ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखते हुए दिल की धड़कन को भी बनाए रखती है।
इसके अलावा चूड़ियां गले संबंधी रोगों से भी छुटकारा दिलाने का काम करती है। तो बताइए कैसी लगी आपको यह स्टोरी। अपने दोस्तों के साथ भी इसे शेयर कीजिएगा।
चूड़ियाँ

READ  दूध में मिलावट को करें घर बैठे चेक, आजमाये ये आसान से तरीके...

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × two =






Latest News




loading...
WP Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com